Home » Life Style » Difference between Guarantee and Warranty in Hindi

Difference between Guarantee and Warranty in Hindi

Difference between Guarantee and Warranty in Hindi

Hello Dear Friends,

आपके अपने Best E-Learning Blog CSC पर आपका स्वागत है।

दोस्तों हम हमारी daily life में बहुत से सामान खरीदते है और उनमें से बहुत से सामान ऐसे होते है जो कि महंगे होते है या उनके ख़राब होने के chances ज्यादा होते है। उस स्तिथि में हम दुकानदार से पूछते है कि इसकी कोई Guarantee है क्या? अगर है तो कितनी है? जबकि हमें ठीक से ये भी पता नहीं होता है कि वास्तव में Guarantee का मतलब क्या होता है और Guarantee/Warranty है क्या?

Guarantee और Warranty को लेकर अक्सर लोग confuse होते हैं। अधिकतर Warranty के बजाए Guarantee को ही बेहतर मानते हैं, जबकि दोनों के ही अपनी-अपनी importance हैं। Guarantee या Warranty का लाभ लेने के लिए सबसे पहले तो customer के पास कंपनी का Bill या Guarantee/Warranty Card होना जरूरी है। तभी आपको किसी product पर Guarantee या Warranty का लाभ मिल सकता है। अब यदि Guarantee/Warranty Card होने के बाद भी कोई Seller इसका लाभ customer को नहीं देता है तो उसके खिलाफ legal एक्शन लिया जा सकता है। तो दोस्तों आज की इस post में मैं आपको Guarantee और Warranty के बीच में अंतर बताने जा रहा हूँ। इस post को पढने के बाद आप किसी भी Product को खरीदने से पहले उसकी Guarantee या Warranty के बारे में आसानी से पता करके समझ सकते है कि आपके लिए क्या बेहतर है।

Warranty क्या है?

सबसे पहले हम बात करते है Warranty की, तो Seller की ओर से किसी Product पर दी जाने वाली छुट को Warranty कहते है। जिसमे Customer खरीदे हुए सामान को Repair करवा सकता है। इसके अलावा Warranty केवल एक निश्चित टाइम period के लिए दी जाती है। Warranty को extra charge देकर आगे भी बढ़वाया जा सकता है। एक प्रकार से Warranty किसी भी Seller की ओर से दिया गया Legal Document भी होता है। Warranty होने के बाद यदि Seller आपको service देने से मना करता है तो आप उसके खिलाफ़ legal action ले सकते है।

Guarantee क्या है?

वहीँ Guarantee किसी Company या बेचने वाले के द्वारा फ्री में दी जाती है। Guarantee को रूपये देकर आगे नही बढ़ाया जा सकता है। Guarantee period में अगर कोई product ख़राब होता है तो Customer उसको बदलवा (Replace) सकता है। Guarantee में Warranty की अपेक्षा कम time period दिया जाता है। Guarantee period में अगर कोई product ठीक से काम नहीं कर रहा है तो Seller को उसे Replace करना होता है। Guarantee period एक तरह से अपने product के लिए जवाबदेही होती है।

Guarantee या Warranty का benefit लेने के लिए Customer के पास पक्का बिल होना जरूरी है।

कोई भी Deal या Shopping करें तो उसमें विज्ञापन में दी गयी बातों को सही नहीं मानें, बल्कि Company जो जो चीजे Return में दे रही है उसके आधार पर ही निर्णय ले।

||Thank You||

तो दोस्तों ये Post थी “Guarantee और Warranty में अंतर” के बारे में हिन्दी में। उम्मीद करता हूँ कि आपको यह Post पसंद आई होगी। दोस्तों अगर आपको यह post पसंद आये तो इसे बाकी दुसरे लोगों और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे साथ ही मेरे Facebook Page को Like करे। Dear Friends, मेरी जिम्मेदारी बनती है कि मैं आपको कुछ अच्छी और सही जानकारी प्रदान करू और अगर आप यहाँ से कुछ सीख रहे हो तो यह आपकी जिम्मेदारी बनती है कि उस जानकारी को निचे दिए गए links पर Click कर शेयर करे और अपने दोस्तों तक पहुँचाये।

About Chandan Saini

दोस्तों मेरा नाम Chandan Saini है और मैं एक IT Professional और Blogger हूँ। इस website को बनाने का मेरा एकमात्र लक्ष्य यही था कि मैं उन लोगों या students की मदद कर सकू, जो internet पर बहुत कुछ सीखना और पढ़ना चाहते है या जो blog और website मे interest तो रखते है परन्तु English अच्छी ना होने के कारण ज्यादा कुछ नही कर पाते है। आपको इस website पर Technology, Social Media, SEO, Blogging, Domain and Hosting, Success Stories, Self Improvement, Online Business, Biography, Gadgets, Tech Tips, Internet, Computer, Laptops, Mobile आदि सभी प्रकार की जानकारी हिन्दी में मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *