Home » Domain & Hosting » Web Hosting क्या है ? इसको कहाँ से और कैसे खरीदें – Chandan Saini

Web Hosting क्या है ? इसको कहाँ से और कैसे खरीदें – Chandan Saini

web-hosting-kya-hai

Hello Dear Friends,

आपके अपने Best E-Learning Blog CSC पर आपका स्वागत है।

सबसे पहले तो आप सभी से माफ़ी चाहूँगा कि इस बार की बहुत दिनों बाद यह Post लिख पा रहा हूँ। इसका कारण यह रहा कि पिछले कुछ समय से मैं मेरे YouTube Channel “CS Tech Tutorials” पर काम कर रहा था। जहाँ मैं प्रतिदिन आपके लिए “Make Money Online, Blogging, WordPress, YouTube, Domain Hosting, Tips & Trick, Technology” आदि के बारे में Tech Videos हिन्दी में उपलब्ध करवाऊंगा। आप से request है कि मेरे YouTube Channel को visit करें और वहाँ Red Button पर click कर उसे Subscribe करें ताकि आपको मेरे video आसानी से मिल सके।

आज की इस Post में हम जानेंगें कि Web Hosting kya hai और Web Hosting kyu aur kaha se khareede. बहुत से दोस्तों द्वारा मुझसे Hosting और Domain से सम्बंधित Post लिखने के लिए कहा गया था तो मैंने Hosting और Domain की एक series शुरू की थी। इस series की पहली post में मैंने आपको Domain Name के बारे में बताया था। आज की इस post “What is Web Hosting in Hindi – Web Hosting kya hai?” में हम Web Hosting के बारे में सभी बातें एक-एक करके विस्तार से जानेंगें –

Web Hosting क्या है?
Web Hosting कैसे काम करती है?
आपकी Website के लिए Web Hosting क्यों जरुरी है?
Web Hosting कितने प्रकार की होती है?
Linux और Windows Web Hosting में क्या अंतर है?
Web Hosting कहाँ से खरीदे?

दोस्तों जब भी हम कोई website बनाने की सोचते है तो उसके लिए सर्वप्रथम 2 ही चीजें जरूरी होती है। पहला तो website के लिए Domain Name और दूसरी Web Hosting. जिस प्रकार Domain Name लेने से पहले हम उस पर सोच विचार करते है ठीक उसी प्रकार Hosting लेते वक़्त भी हमें सावधानी बरतनी होती है। क्योंकि Hosting एक ऐसा factor है जिस पर हमारी website की speed और traffic निर्भर करते है। इसलिए हमे बहुत सावधानी से किसी अच्छी कंपनी से ही Hosting Space लेना चाहिए। तो चलिए शुरू करते है Web Hosting के बारे में –

Web Hosting क्या है?

दोस्तों Hosting एक प्रकार का Online Storage Space है जो कि आपको अपनी Website या Website की files को Internet पर रखने की सुविधा देती है और आपकी website को पूरी दुनिया के लोगों तक पहुँचाने (Serve करने) का कार्य करती है। इसके बदले में आपको प्रत्येक वर्ष कुछ Amount Pay करना होता है। यहाँ Storage Space से मेरा मतलब एक ऐसे special computer से है जिसकी Storage और कार्य करने की क्षमता बहुत अत्यधिक होती हैै और इन Special Computers को Web Server कहते है। आपकी Website की सभी files, videos, images आदि Internet पर इन्ही special computers यानी Web Servers पर store होती है। ये Web Servers हमेशा 24 x 7  Internet से connected रहते है। बहुत सी Companies है जो हमें Hosting की service provide करती है जैसे GoDaddy, DreamHost, BigrocksHostGator, BlueHost  आदि।

Web Hosting के बारे में हम एक साधारण example से समझ सकते है। जब भी आप कोई Business शुरू करते है तो उसके सम्बंधित Products को रखने के लिए आपको कोई Office या दुकान किराये से लेनी होती है। जिसका आप monthly कुछ किराया चुकाते हो। Web Hosting भी ठीक उसी प्रकार की सेवा है जिसमें आपको अपनी website की files को उनके Web Servers पर रखने के लिए हर साल किराया चुकाना होता है। Web Hosting खरीदने के बाद ही आपकी website Online दिखाई देती है।

Web Hosting कैसे काम करती है?

Web hosting ki karya pranali
Pic Credit – Google Images

Web Hosting में आपकी website की सभी files, videos, images आदि को web server पर store कर दिया जाता है। अब जब भी कोई user/visitor आपकी website को access करने के लिए उसका Address/URL/Domain Name अपने browser (Mozilla Firefox, Google Chrome, Opera) में लिखता है,  तो Browser एक HTTP Request बनाता है और उस Web Server को भेजता है जिस पर वो website रखी हुई है। इसके बाद web server उस Request को स्वीकार करते हुए अपने Database/Records में उस website की files को खोजता है और आपकी website files की एक copy को HTTP Response के रूप में उस user के computer पर पंहुचा देता है। जिससे user/visitor के computer पर  आपकी website खुल जाती है।

अब दोस्तों आपके दिमाग में यह बात आएगी कि Domain को कैसे पता चलता है कि आपकी website कौनसे Server पर रखी है। तो दोस्तों इसका answer है DNS (Domain Name Syatem). आपको Domain Name और Hosting खरीदने के बाद Domain की DNS Settings में जाकर आपके Domain को hosting के साथ link करना होता है। प्रत्येक Hosting Server का अपना अलग-अलग DNS होता है। अब जैसे ही यह DNS हम Domain की Setting में update करते है, तो हमारा Domain और Hosting आपस में link हो जाते है। इससे आपके Domain को ये पता चलता है कि आपकी website कौनसे web server पर store है।

आपकी Website के लिए Web Hosting क्यों जरुरी है?

Friends जैसा कि मैं आपको ऊपर बता चुका हूँ कि Domain खरीदने के बाद आपको सबसे पहले Hosting ही खरीदनी होती है। क्योंकि इसके बाद ही आपकी Website को लोग internet पर देख और खोल पायेंगें। अगर आपकी website Blogger पर बनी है, तो आपको Hosting की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि Blogger खुद आपको आपके Web Pages के लिए Space provide कराता है। लेकिन Blogger पर आपको personal domain Name नहीं मिलता है। यह कुछ इस तरह से होता है www.yourname.blogspot.com. इसके विपरीत अगर आपने website personal Domain लेकर बनाई है तो आपको इसके लिए निश्चित रूप Hosting की जरूरत पड़ती है। इसके बाद ही आपकी website Online चलेगी।

Web होस्टिंग के प्रकार

दोस्तों Web Hosting खरीदने से पहले हमें उसके प्रकार के बारे में पता होना चाहिए। अलग अलग आधार पर hosting अलग अलग प्रकार की होती है। सबसे पहले अगर बात करें तो Services के आधार पर Hosting 4 प्रकार की होती है-

Shared Server Hosting
Virtual Private Server (VPS) Hosting
Dedicated Server Hosting
Cloud/Grid Hosting

तो चलिए friends अब हम hosting के इन विभिन्न प्रकारों के बारे में detail में जानते हैं कि वास्तव में इनमें क्या difference होता है –

1. Shared Server hosting

जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा है कि इसमें एक server को बहुत सारी websites share करती है। मतलब कि एक ही server पर बहुत सारी websites host होती है। इसको आप एक बहुत ही simple से example के द्वारा समझ सकते है, जैसे कि एक Hostel में एक रूम को बहुत से students द्वारा share किया जाता है और उस room की सभी सुविधाओं का वो सभी students बराबर उपयोग करते है। ठीक उसी प्रकार shared server पर भी बहुत सारी websites को एक साथ host किया जाता है। इस प्रकार की Shared Hosting के अन्तर्गत एक High Performance वाले Sever Computer की Capacity इतनी अधिक होती है कि सभी websites एक साथ समान रूप से उस server के Space, CPU, RAM आदि का उपयोग आसानी से करती है। इसके लिए ज्यादा technical knowledge की भी जरूरत नहीं होती है।

वर्तमान में लगभग 90% websites Shared Web Hosting ही use करती है, क्योंकि यह sharing में होने से इसकी लागत (Costing) कम हो जाती है जिससे छोटी या start-up वाली websites को सस्ते में Hosting उपलब्ध हो जाती है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि सस्ती होने के बावजूद भी ये Hosting सभी आवश्यक एवं पर्याप्त Resources provide करने वाली Services होती हैं। जब तक हमारी website पर बहुत heavy traffic नहीं हो जाता तब तक इसमें किसी प्रकार की समस्या नहीं आती है। लेकिन हाँ अगर आपकी website किसी दूसरी heavy traffic वाली website के साथ host है तो उसके कारण उस server पर सभी websites धीमी हो जायेंगी और उनको खुलने में time लगेगा। यही इस Hosting का सबसे बड़ा नुकसान है।

2. Virtual Private Server (VPS) Hosting

VPS Hosting में virtualization तकनीक का प्रयोग किया जाता है, जिसमें एक High performance वाले Strong और Secure Server को virtually अलग-अलग sectors में divide कर दिया जाता है। लेकिन प्रत्येक Virtual Server के लिए सभी Resources अलग-अलग होते है। इसी कारण एक ही server पर host होते हुए भी दूसरी websites आपके हिस्से के resources को उपयोग नहीं कर पाती हैं। यहाँ आपको किसी दूसरी website के साथ space share नहीं करना पड़ता है, जिससे आपकी website को high level की security और performance मिलती है।

इसको आप एक Flat के example द्वारा समझ सकते है, जहाँ एक ही Building में बहुत से घर होते है और सभी को मिलने वाली सुविधाएँ खुद की होती है जिन्हें कोई ओर use नहीं कर सकता। VPS hosting वैसे तो Shared Hosting की तुलना में थोडी महंगी होती है लेकिन फिर भी कम पैसो में dedicated server के जैसी  performance और सुविधाएँ provide करती है। अगर आपकी website पर traffic ज्यादा है तो आपके लिए VPS Hosting ही best है।

3. Dedicated Server होस्टिंग

friends जैसा कि नाम से ही clear है कि “Dedicated” मतलब यह केवल एक ही website के लिए dedicate होती है। अतः Dedicated hosting में Web server सिर्फ और सिर्फ एक ही website की files को store करके रखता है और इसमें आपको server पर पूरा access control मिलता है। इस प्रकार के Server सबसे fast और Reliable होते है। इसमें किसी भी प्रकार की sharing नहीं होती है और आपके server और Resources का उपयोग दूसरो के लिए प्रतिबंधित होता है। इसीलिए dedicated hosting में security काफी high level की होती है।

इसको हम इस तरह से समझ सकते है, जैसे आपका खुद का एक बड़ा सा घर होता है और उसमे किसी और को रहने के लिए इज़ाज़त नहीं होती तथा साथ ही उस घर की सारी ज़िम्मेदारी केवल आपकी ही होती है, ठीक उसी प्रकार dedicated hosting का काम होता है। यह hosting सबसे महंगी होती है, क्यूंकि इसका पूरा किराया केवल एक ही व्यक्ति को भरना पड़ता है। यह hosting सिर्फ उनके लिए ही सही है जिनकी website पर बहुत ही ज्यादा heavy traffic रहता है जैसे Facebook, Flipkart, Amazon, Snapdeal आदि।

4. Cloud Hosting

Cloud Hosting को अच्छे से समझने के लिए आपको पहले cloud के बारे में पता होना चाहिए। इसे साधारण भाषा में हम “Group of Servers” के रूप में समझ सकते है मतलब बहुत सारे servers मिलकर एक cloud बनाते है। जिससे इस पर host होने वाली websites को unlimited ability of control मिलता है। इससे एक ही website पर multiple computers से काम किया जाता है, जिससे की heavy traffic को control किया जाता है।

यह सबसे advanced तरह की hosting है और बाकी सभी hosting की तुलना में सबसे fast है। Cloud Hosting सबसे ज्‍यादा भरोसेमंद hosting है, क्‍योकि कई सारे servers एक साथ जुड़े होते है। जिससे कि website के load का balance बना रहता है और website down जाने के chances बहुत कम हो जाते है। लेकिन यह उतनी ही expensive hosting है।

Windows और Linux Hosting में अन्तर

Windows Vs Linux Hosting
Pic Credit – Hosting provider india.Com

दोस्तों अभी तक ऊपर आपने hosting के जितने भी प्रकार पढ़े है वो सब services के आधार पर थे। इसी प्रकार Server के Operating System के आधार पर भी Hosting 2 प्रकार की होती है। जब भी आप किसी Hosting company से hosting खरीदने जायेंगें तो वहॉं पर आपको सबसे पहले दो options मिलेंगे Windows hosting या Linux hosting. आप इन दोनों में से कोई भी hosting अपनी website के लिए use कर सकते है। दोनों ही servers बहुत बढ़िया है, पर फिर भी इनके अपने अपने फायदे और नुकसान है।

तो सबसे पहले मैं आपको इनकी Cost में अंतर बता देता हूँ। दोस्तों Linux एक Open Source Operating System है, जो कि free होता है। तो इसीलिए इसे use करने के लिए Hosting Company को किसी प्रकार का पैसा खर्च नहीं करना पड़ता। इसीलिए Linux hosting सस्ती होती है। पर Windows Operating System के लिए Hosting Company को Microsoft से license खरीदना पड़ता है, जिससे Windows hosting थोडी महंगी पड़ती है।

अब बात करते है कि दोनों में से कौनसी Hosting better है। तो दोस्तों यह आपकी Application पर depend करता है कि आपकी Website किस Platform पर बनी हुई है। जैसे PHP और MySQL में बनी हुई websites Linux hosting के साथ अच्छे से work करती है। इसी प्रकार WordPress, Zen Cart, Joomla, phpBB आदि भी PHP की ही scripts है, तो इस प्रकार की websites के लिए भी Linux Hosting best रहती है। दूसरी ओर Windows hosting केवल उन्ही websites के लिए ही अच्छी रहती है, जो Windows-specific technologies जैसे ASP, .NET, Microsoft Access और SQL server में बनी होती है।

दोस्तों आजकल ज्यादातर blog और websites Linux server पर ही host की जाती है। इसका reason यही है कि एक तो यह सस्ती पड़ते है और दूसरा Windows Server की तुलना में अधिक secure और fast होते है, अधिक features provide करते है। इसके साथ ही वे सभी Websites जो Linux server पर host हो सकती है, वे Windows server पर भी अच्छे से चलती है लेकिन Windows Server वाली websites Linux पर नहीं चल पाती है।

Website के लिए Hosting कहाँ से खरीदें ?

दोस्तों यह एक ऐसा Question है जो पूरी तरह से आप पर ही निर्भर करता है। आज पूरी दुनिया में हज़ारों websites और Companies है जो Hosting provide करती है। इनमें से बहुत सी Companies आपको बहुत ही सस्ते में hosting दे देती है। साथ ही कुछ companies आपको free में भी Hosting provide करती है। बहुत सी companies आपको समय समय पर offer भी देती रहती है जिससे आपको यह ओर भी सस्ती मिल सकती है। आप चाहे तो domain और hosting दोनों एक ही company से भी ले सकते है।

सभी companies आपको अलग-अलग plans देती है। आप अपनी सुविधा के अनुसार कोई भी plan ले सकते है। वैसे शुरूआत में आप किसी भी Company का Starter/Basic Plan ले सकते है जिसको बाद में कभी भी upgrade किया जा सकता है। लेकिन अगर आपके साथ बजट को लेकर कोई समस्या ना हो तो मैं आपको Unlimited Hosting plan लेने की सलाह दूँगा। क्योंकि इससे आपको Bandwidth भी Unlimited मिलेगी जिससे आपकी website की speed fast होगी और Google Ranking में help मिलेगी। जिस भी Company से आप Hosting खरीदना चाहते है उसके Plan Features को अच्छे से पढ़े और उसकी Services को भी बेहतर तरीके से study कर ले। कहीं ऐसा ना हो कि आप खरीद ले और फिर आपको अच्छी speed और service ना मिल पाए।

Must Read : अपनी website के लिए Hosting लेते वक़्त किन 8 बातों का ध्यान रखा जाये ? (Coming Soon…..)

“मैं आपको सलाह दूँगा कि आप कभी भी free या सस्ती Hosting लेने के चक्कर में ना पड़े। इसका कारण यह है कि इस प्रकार की websites पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। ये companies कभी भी बंद हो सकती है या फिर आपकी website को बंद कर सकती है या उसे delete कर सकती है। फिर भी अगर आप free hosting लेना चाहते है तो इस post को पढ़े।”

Must Read : अपनी website के लिए Free Hosting कैसे ले ? (Coming Soon…..)

अगर आप मुझसे पूछेंगे तो मेरे experience के base पर मैं आपको निम्न में से किसी एक Company से Hosting खरीदने की सलाह दूँगा। ये सभी Companies India में best Hosting Services के लिए जानी जाती है।

तो दोस्तों अब मैंने आपको Hosting के बारे में लगभग पूरी जानकारी दे दी है। अगर आप अपनी website बनाना चाहते है और इसको लेकर serious है तो free hosting के चक्कर में ना पड़े और ऊपर बताई गयी किसी अच्छी company से ही Paid  Hosting खरीदे। क्योंकि Paid hosting मे आपको ज्‍यादा बेहतर quality, features और control मिलता है।

Must Read : Affiliate Marketing क्या है और इससे Online पैसे कैसे कमाए? [Complete Guide in Hindi]

Must Read : Blogging क्या है? Free Blog कैसे बनाये और उससे पैसे कैसे कमाए? [Full Guide in Hindi]

Must Read : Google AdSense क्या है? और उससे पैसे कैसे कमाए? [Full Guide in Hindi]

||Thank You||

तो दोस्तों ये post थी “Web Hosting kya hai aur kaha se khareede – हिन्दी में”। इस post से सम्बंधित कोई भी question अगर आपके दिमाग में हो या कुछ समझ नही आया हो तो आप comment करके मुझसे पूछ सकते है। मुझे आपकी सहायता करके बहुत प्रसन्नता होगी। आपको यह Post कैसी लगी please comment करके मुझे बताये। आपके comments और सुझाव मेरे लिए बहुत आवश्यक तथा प्रेरणादायक होंगें। वैसे उम्मीद करता हूँ कि आपको यह Post पसंद आई होगी। दोस्तों अगर आपको यह post पसंद आये तो इसे बाकी दुसरे लोगों और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे साथ ही मेरे Facebook Page को Like करे। Dear Friends, मेरी जिम्मेदारी बनती है कि मैं आपको कुछ अच्छी और सही जानकारी प्रदान करू और अगर आप यहाँ से कुछ सीख रहे हो तो यह आपकी जिम्मेदारी बनती है उस जानकारी को निचे दिए गए links पर Click कर शेयर करे और अपने दोस्तों तक पहुँचाये।

About Chandan Saini

दोस्तों मेरा नाम Chandan Saini है और मैं एक IT Professional और Blogger हूँ। इस website को बनाने का मेरा एकमात्र लक्ष्य यही था कि मैं उन लोगों या students की मदद कर सकू, जो internet पर बहुत कुछ सीखना और पढ़ना चाहते है या जो blog और website मे interest तो रखते है परन्तु English अच्छी ना होने के कारण ज्यादा कुछ नही कर पाते है। आपको इस website पर Technology, Social Media, SEO, Blogging, Domain and Hosting, Success Stories, Self Improvement, Online Business, Biography, Gadgets, Tech Tips, Internet, Computer, Laptops, Mobile आदि सभी प्रकार की जानकारी हिन्दी में मिलेगी।

Check Also

soda shop business

How to start a Fountain Soda Shop Business in Summer

Hello Dear Friends, आपके अपने Best E-Learning Blog CSC पर आपका स्वागत है। दोस्तों आज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *